बघेली पहेलियां, किहनी | Bagheli Paheliyan

अपना पचेन का राम राम आजु हम कुछु बघेली पहेलियां प्रस्तुत करे हयन। इया अपने सीधी रीवा मा खूब चलति हय। इहा के छोट-छोट लड़िका बहुतय एक दुसरे पूछत हा अऊ घंटन मनोरंजन होत रहत हय। ता अपनउ पचे पढ़ी अपने इहा केर बघेली पहेली, किहनी

बघेली पहेलियां, किहनी | Bagheli Paheliyan

बघेली पहेलियां, - Bagheli Paheliyan
बघेली पहेलियाँ – Bagheli Paheliyan

1) पाँच भाई कूदिन, दुइ भाई गिराइन।

उत्तर – नाक पोछना।

2) एक हाड़ी मा दुई रंग का पानी।

उत्तर – अण्डा

3) सात चिरई सात रंग डारे बैठिन ता एकई रंग।

उत्तर – इन्द्रधनुष

4) हरिना के सीग ठका ठक लागे ओकर गूदा बड़ मीठ लागैय।

उत्तर – नारियल

5) देखय में दूनो रोटी दुनो एके बराबर।

उत्तर – सूर्य, चंद्रमा

6) देखय मा लाल लाल छुअई में गुज-गुज थोर का खाईके देखा त चाब दिहिन बुबु।

उत्तर – मिर्च

7) पहार उपर तुतुरू बोले दमकत निकलैय राजा।

उत्तर – सूर्योदय

8) एक टाठी राई पूरे आकाश म छितराई।

उत्तर – तरई

9) आए लूलू जाए लूलू पानी से डराय लूलू।

उत्तर – जूता

10) नन्द बाबा के नौ सौ गाय रात चरय दिन वेड़े जाय।

उत्तर – तारे

11) पॉच कबूतर पॉचे रंग, महल में जाके सब एके रंग।

उत्तर – पान सुपारी

12) पेट चिरहा पीठ कुबड़ा।

उत्तर – कौड़ी

13) कटोरा उपर कटोरा बेटा बाप से भी गोरा।

उत्तर – नारियल

14) अड़ी हयन खड़ी हयन, लाखन मोती जड़ी हयन, बाबा तेरे बाग में दुशाला ओढ़ पड़ी हयन।

उत्तर – मक्की , भुट्टा

15) दिन के भरी रात के छूछ।

उत्तर – अरगसनी

16) एक चिरइया बारह हाथ, ओखर पूँछ अठारह हाथ पानी पिअई पाताल केर पूज जाई अक्काश मा।

उत्तर – कआ से पानी निकालना

17) एक छितक या दुई परेबा, उगलइ तातै कर कलेवा पूँछी धरे गुर्राय।

उत्तर – जतवा।

18) तुम बड़े हम छोटका हम छुई दिहन तुम रोय दिहा।

उत्तर – बिच्छू

19) काला है कलूटा डार ओनाए बैठा है।

उत्तर – भांटा

20) आधा सुगा आधा बकुला।

उत्तर – मूली

21) उपर दौरी नीचे दौरी बीच मा लाल बहुरी।

उत्तर – मसूरी

22) सफेद खेत में काल हल।

उत्तर – कागज कलम

23) मेरे घर का पहरेदार न खाय न पियअ तवउ खड़ा रहय चारिउ पहर।

उत्तर – किवाड़।

24) छोटका काला घर घूमत रहय इधर उधर।

उत्तर – छाता

25) पाँच भईयन के बीच एकै अगना।

उत्तर – हथेली

Leave a Comment