बसंत का साथ छोड़कर, यौवन चला गया | कविता

इस कविता में एक पिता का अपने युवा पुत्र पंकज सोनी के विछुड़ने (संसार छोड़ जाने) पर अपने वियोग को कैसे व्यक्त करते हैं वो देखिए। बहुत ही दिल भावुक कर देने वाली यह कविता स्वयं उस पिता द्वारा लिखी गई है।