बघेली पहेली | Bagheli Paheli | बघेली पहेलियां

पढ़िए मजेदार बघेली पहेली और दोस्तों से पूछिए उनके जवाब क्या उनका उत्तर दे पाते है। Bagheli Paheli अपने रीवा सीधी, सतना सिगरौली आदि बघेलखंड में खूब प्रचलित है। यहाँ के छोटे-छोटे बच्चे एक दूसरे से बहुत पहेली बूझते हैं। और लोगों को भी अपने इन पहेलियों से खूब परेशान करते हैं। आप भी पढ़िए हमारे यहाँ की बघेली पहेलियां

बघेली पहेली | Bagheli Paheliबघेली पहेलियां

बघेली पहेलियाँ, - Bagheli Paheliyan
बघेली पहेली – Bagheli Paheli – बघेली पहेलियां

1) एकठे पेड़े म एकई पत्ता।

उत्तर – झण्डा

2) चघेल नाक उपर, धरेल कान मा बतावा ऊ कौउन शैतान हय।

उत्तर – चश्मा

3) एको राजा के खूब सुन्दर रानी पूँछी से पिये पानी।

उत्तर – दिया बाती

4) जब सब जने घरे से चले गे ता बुढ़वा लटकि गा।

उत्तर – ताला

5) दुई भाई एकैय रंग एक गुम जाए तो दूजा काम न आए।

उत्तर – जूता चप्पल

6) देखई मा काली हरिअर खाय तबो उज्जर देय।

उत्तर – भैस

7) दिन के खड़ी रात के पड़ी।

उत्तर – खटिया।

8) चारि टाग चौरंगा, आठ टांग अठरंगा कहव ता मनवा झूठि पांच गाड़ि मा एक पूँछि।

उत्तर – चार चमार एक बैल को ले जाते हुए

9) एक मंदिर दुई दुआरी निकेलैय ता दैय मारी।

उत्तर – नाक पोछना

10) एक खेत मा एकई ढेला।

उत्तर – सूर्य

11) अत्थर पर पत्थर, पत्थर पर जंजाल मोर किहनी कोऊ न जानै, जानै भैयालाल।

उत्तर – नारियल

12) अरिया मा लोलरिया नाचै।

उत्तर – जीभ

13) टेढ़ी मेढ़ी सड़क पहाड़ चढ़ी।

उत्तर – धुंआ

14 एक चिरइया लेद्दी फेद्दी पेट भर भूसा खाय तपत कुंड में डुबक्की लगाबय पेट मा घुस जाय़।

उत्तर – गुझिया

15) एक दिया सबतर उजियार।

उत्तर – सूर्य

16) एक टठिया मा दुई अंडा, एक गरम पै दूसर ठंडा।

उत्तर – सूर्य-चंद्रमा

17) एक ले दुई फेकै।

उत्तर – दातून

18) काका के कानै नही, काकी के दुइकान।

उत्तर – तबा कढ़ाइ

19) काली हूँ कलूटी हूँ, लाल पानी पीती हूँ काले वन में रहती हूँ।

उत्तर – सिर की जुआ

20) एक हरा घर के अंदर सफेद घर, सफेद घर के अंदर लाल घर, लाल घर के अंदर रहते काले बच्चे।

उत्तर – तरबूज

21) एकठे अइसन सवाल जेकर बदलय, हरदम जवाब।

उत्तर – समय कितना हुआ

22) वो क्या है जो है तो मेरा पर अपने ज्यादा दूसरे लेते है।

उत्तर – नाम

23) उ का हय जेका अंधा भी देख सकत हय।

उत्तर – अंधेरा

24) एकठे अइसन जनाउर नीचे से सुनई उपर से बोलय।

उत्तर – मोबाइल

25) एकठे राजा मरगा पै कोऊ न रोबय

उत्तर – सूर्यास्त

Leave a Comment