बघेली लोकगीत कजरी | हरी रामा छाई घटा घनघोर बदरिया कारी रे हारी

बघेली-लोकगीत

बघेली लोकगीत कजरी सावन गीत जिसका बोल है हरी रामा छाई घटा घनघोर बदरिया हमारे बघेलण्ड की सबसे लोकप्रिय कजरी गीत है। जिसे सुनने के बाद तन-मन मस्ती से झूम उठता है।

मुंडन के गीत | बच्चे के मुंडन के गीत | mundan geet in hindi

बघेली-लोकगीत

कहमा लगायों बेलिया त कहमा चमेलिया
ता कहमा चमेलिया हो अब कहमा उपजी झलरिया झलरिया बड़ी सुंदर

मुंडन के गीत | बच्चे के मुंडन के गीत | mundan geet in hindi